17.1 C
New Delhi
Wednesday, February 8, 2023

बिहार की प्रियंका Graduation करके बनी चाय वाली, बोर्ड पर लिखा ‘पीना ही पड़ेगा’

आजकल लोग अपना खुद का बिजनेस करने में ज्यादा रुचि रखने लगे है। ऐसे ही एक प्रियंका गुप्ता (Priyanka Gupta) नाम की लड़की बिहार (Bihar) के जिला पटना (Patna) में अपना चाय का ठेला चला रही है। आईए जाने पूरी ख़बर।

प्रियंका ने अर्थशास्त्र से की है ग्रेजुएशन

प्रियंका गुप्ता का घर बिहार के पूर्णिया (Purnia) में है। प्रियंका गुप्ता नाम की 24 साल की लड़की बिहार के जिला पटना में चाय बेचने का काम करती है। प्रियंका अनपढ़ नहीं है, वह ग्रेजुएशन (Graduation) की पढ़ाई पूरी कर चुकी है। बनारस के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ (Mahatma Gandhi Kashi Vidyapeeth) से अर्थशास्त्र विषय में प्रियंका ने अपना ग्रेजुएशन कंप्लीट किया है। प्रियंका प्रतिदिन अपना चाय का ठेला पटना विमेंस कॉलेज (Patna women’s College) के आगे लगाती है जिसके वजह से वह चर्चा का विषय बनी हुई है।

2 वर्षो तक लगातार कंपीटिशन की तैयारी की थी प्रियंका

मीडिया रिपोर्ट्स (Media Reporters) के मुताबिक प्रियंका गुप्ता लगातार 2 वर्षों तक कंपटीशन की एग्जाम दे रही थी लेकिन उन्हें किसी भी परीक्षा में सफलता हासिल नहीं हुई। जिसके साथ उन्हे घर लौटने की नौबत आ गई थी लेकिन उन्होंने घर लौटने के बजाय रोजी रोटी कमाने के लिए दो पैसे कमाने का सोचा जिसके लिए उन्होंने अपने चाय का ठेला लगाया।

चाय बेचने में शर्मिंदा नहीं होती प्रियंका को

11 अप्रैल को प्रियंका गुप्ता ने अपना चाय का बिजनेस स्टार्ट किया। वह कहती है कि अर्थशास्त्र से ग्रेजुएट होने के बावजूद चाय का ठेला लगाने में उन्हे जरा सी भी शर्मिंदगी महसूस नहीं होती है। प्रियंका अपने चाय के दुकान पर तरह तरह की चाय बेचती है जैसे कि पान चाय, कुल्हड़ चाय, चॉकलेट चाय, मशाला चाय इत्यादि। उन्होंने अपने चाय की कीमत 15 से 20 रुपया रखा है।

यह भी पढ़ें: RedRail App: इस नए एप्प से आसानी से बुक कर सकते हैं ट्रेन की टिकट, जानिए यूज करने का तरीका

पंचलान बन रहा है ग्राहकों के आकर्षण का कारण

प्रियंका गुप्ता अपना आइकन अहमदाबाद (Ahmadabad) के मशहूर प्राफ्लल बिलोर (Prafull Billore) एमबीए चाय वाला को मानती है। पटना के कॉलेज के आगे चाय की दुकान होने की वजह से उनके प्रमुख्य ग्राहक छात्र ही होते हैं। प्रियंका गुप्ता द्वारा उनके दुकान के आगे लिखा गया पंचलान ग्राहकों के आकर्षण का कारण बन रहा है। “पीना ही पड़ेगा” एवं “सोच मत…चालू कर दे बस”।

Medha Pragati
Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -