17.1 C
New Delhi
Monday, January 30, 2023

दिहाड़ी मजदूर की बेटी बनी वायुसेना में अफसर, पिता ने कहा- ‘आज मेरा सीना 56 इंच का हो गया’

मुश्किल से मुश्किल हालातों में अपने दृढ़ संकल्प पर अड़ा रहने वाला व्यक्ति ही कामयाबी हासिल करता है। आज हम आपको एयरफोर्स फ्लाइंग ऑफिसर मेघा नेगी (Air force flying officer Megha Negi) के बारे में बताएंगे, जिन्होंने अपने जीवन में आने वाली सभी मुसीबतों का सामना कर अपने सपने को पूरा कर दिखाया है। Success story of flying officer Megha Negi

एयर फोर्स फ्लाइंग ऑफिसर मेघा नेगी का परिचय

मेघा नेगी (Megha Negi) उत्तराखंड (Uttarakhand) के हलद्वानी की रहने वाली है। मेघा वायु सेना में फ्लाइंग ऑफिसर बन अपने लक्ष्य को पूरा किया है। मेघा नेगी एक मध्यवर्गीय परिवार से है। उनके पिताजी एक निजी कंपनी में काम कर अपने परिवार का पालन पोषण करते थे। मेघा बचपन से ही पढ़ाई में काफी तेज थी और हमेशा अपनी कक्षा में अव्वल आती थी जिसके कारण उनकी गिनती मेधावीं छात्रों में होती थी।

यह भी पढ़ें: 10 साल तक दिल्ली पुलिस में रहे कॉन्स्टेबल, कड़ी मेहनत कर पास किया सिविल सर्विसेज और बन गए ACP

बचपन से ही सेना में जाने की थी इच्छा

मेघा बचपन से ही सेना में जाना चाहती थी इसीलिए वह अपनी पढ़ाई पूरी लगन के साथ करती थी। 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद वह ग्रेजुएशन करने के साथ-साथ वायु सेना में जाने की तैयारी भी करने लगी। उन्होंने MBPG कॉलेज में B.SC में दाखिला कराया एवं NCC एयर विंग भी जॉइन कर ली। उनका NCC कैंपस ट्रेनिंग सिंगापुर में हुआ।

ट्रेनिंग पूरी कर बनी फ्लाइंग ऑफिसर

मेघा नेगी एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट का एग्जाम वर्ष 2020 के फरवरी के महीने में दिया जिसमें उन्हें सफलता भी मिली। इसके बाद उन्हें इंटरव्यू के लिए देहरादून जाना पड़ा, वहाँ भी उन्हें सफलता हासिल हुई। मेडिकल में भी चयन होने के बाद उनका नाम मेरिट लिस्ट में नाम आया और उन्होंने हैदराबाद वायु सेना अकादमी (Hyderabad Air force academy) जाकर अपनी ट्रेनिंग पूरी किया। ट्रेनिंग पूरी करके मेघा वायु सेना में फ्लाइंग ऑफिसर बन कर अपने सपनों की उड़ान को हकीकत में बदल दिया। जो बच्चे एयर फोर्स ऑफिसर बनना चाहते है उनके लिए मेघा प्रेरणा बन गई है।

Shubham Jha
Shubham Jha
शुभम झा (Shubham Jha)एक पत्रकार (Journalist) हैं। भारत में पत्रकारिता के क्षेत्र में बदलाव लाने की ख्वाहिश रखते हैं। वह चाहते हैं कि पत्रकारिता स्वच्छ और निष्पक्ष रूप से किया जाए। शुभम ने पटना विश्वविद्यालय (Patna University) से पढ़ाई की है। वह अपने लेखनी के माध्यम से भी लोगों को जागरूक करते हैं।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -