13.1 C
New Delhi
Monday, January 30, 2023

एक बेजुबान की ज़िंदगी बचाने के लिए अपनी बाइक तक बेच दिया था, कई पुरुस्कारों से हो चुकें हैं पुरुस्कृत

दुनिया मे बहुत कम लोग हैं ही ऐसे होते हैं जो बेज़ुबान जानवरो के दर्द को समझते हैं। आज हम आपको दीपक साह (Deepak Sah) के बारे में बताएंगे, जिन्हें पशु-पक्षियों से बेहद प्यार है। आईये जानते है इनके द्वारा पशु-पक्षियों के लिए किये गए नेक कार्यों के बारें में।

दीपक साह का परिचय

दीपक साह बिहार (Bihar) के भागलपुर (Bhagalpur) के रहने वाले है। उनका जन्म 5 जून 1980 में हुआ था। दीपक को पर्यावरण, पक्षियों एवं वन जीवों से शुरू से ही बहुत प्रेम है। वह अपना जीवन वाइल्डलाइफ फोटोग्राफी (Wildlife photography) और पक्षियों की खोज में बिता रहे है।

सांड के इलाज़ के लिए बाइक तक बेच दिया

दीपक ने भागलपुर के बुधानाथ मंदिर के पास घायल सांड को देखा तब वह लगभग 20 साल के ही थे। दीपक के पिताजी ने उसे एक बाइक दिया था। सांड के इलाज के लिए दीपक ने वह बाइक मात्र 20 हज़ार में ही बेच दिया।

400 से अधिक प्रजातियों के पक्षियों का कर चुके हैं खोंज

दीपक लगभग 400 से अधिक पक्षियों की प्रजाति का खोज कर चुके हैं। इनमें से 40 प्रजाति भागलपुर के ही सैंडल कंपाउंड के हैं। इसमे 200 विदेशी प्रवासी पक्षी में वारहैडेड, गूज, गडवाल, पोचार्ड जैसे पक्षी आते हैं। दीपक को पक्षियों से इतना प्रेम है की वो 100 गौरैया को अपने घर पर पालते हैं।

कई पुरस्कारों से भी हो चुके हैं पुरुस्कृत

2009 में पर्यावरण से बहुत प्रेम देखते हुए नमामि गंगे (Namami Gange) के एक कार्यक्रम में तत्कालीन जनशक्ति मंत्री ने दीपक को पुरस्कृत किया था। दीपक पर्यावरण एवं वन विभाग के जिला स्तरीय विशेषज्ञ आकलन समिति के सदस्य हैं।दीपक भागलपुर में गंगा प्रहरी भी चुना गया था। दीपक ने चिड़ियाघर को 400 से अधिक सांपों को पकड़ कर सौंपा है। दीपक में सांप पकड़ने की भी कला आती है।

यह भी पढ़ें: माँ तुझे सलाम: छोटे बच्चे को पेट से बांधकर ऑटो चलाती है ये बहादुर माँ, सोशल मीडिया पर लोग कर रहे तारीफ

सांप पकड़न में है माहिर

दीपक को आसपास के घरों से भी सांप पकड़ने के लिए बुलाया जाता है। दीपक सांप पकड़ने में माहिर है। दीपक खाली समय में गंगा नदी की सफाई कराने में लगे रहते हैं और बच्चों को फील्ड ट्रिप पर भी ले जाते हैं। बच्चो को जागरुक भी करते हैं।

डॉल्फिन एवं कछुआ को रेस्क्यू करने में है महारथी

आज दीपक शाह विक्रमशिला गंगा डॉल्फिन (Dolphin) अभियान के साथ काम कर रहे हैं। दीपक को डॉल्फिन (dolphin), कछुआ को रेस्क्यू में भी महारत हासिल है। दीपक ने सैंडिस कंपाउंड में दुर्लभ प्रजाति के सांप ट्वीन स्पॉटेड वोल्फ को भी पकड़ा था।

Shubham Jha
Shubham Jha
शुभम झा (Shubham Jha)एक पत्रकार (Journalist) हैं। भारत में पत्रकारिता के क्षेत्र में बदलाव लाने की ख्वाहिश रखते हैं। वह चाहते हैं कि पत्रकारिता स्वच्छ और निष्पक्ष रूप से किया जाए। शुभम ने पटना विश्वविद्यालय (Patna University) से पढ़ाई की है। वह अपने लेखनी के माध्यम से भी लोगों को जागरूक करते हैं।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -