17.1 C
New Delhi
Monday, January 30, 2023

भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट बिहार से निकली: देश का नाम किया रौशन।

बिहार जैन और बौद्ध धर्म की जन्मस्थली होने के साथ ही प्राचीन विशाल मगध साम्राज्य के नाम से प्रसिद्ध रहा। जिसकी राजधानी पाटलिपुत्र रही। कवि कोकिल विद्यापति तथा भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद की जन्म स्थली होने के साथ ही माता सीता की जन्म भूमि बिहार ही रहा।
इस प्रकार बिहार एक ऐतिहासिक राज्य हैं वर्तमान में इसकी राजधानी पटना है । महात्मा बुद्ध की तपोस्थली होने के साथ ही यहां पर बौद्ध भिक्षुओं की संख्या बढ़ती गई । बौद्ध भिक्षुओं के रहने के स्थान को विहार कहते हैं और इसी विहार से इस राज्य का नाम बिहार पड़ा।

बिहार की पहली भारतीय नौसेना महिला पायलट।

बिहार के मुजफ्फरपुर की शिवांगी सिंह भारतीय नौसेना में पहली महिला पायलट बनी थी। 2 दिसंबर 2019 को उन्हें अधिकारिक तौर पर नौसेना में पायलट के रूप में शामिल कर लिया गया था। शिवांगी का कहना था की एक बार उसके गांव में एक नेता की सभा होने वाली थी। तभी शिवांगी अपने नाना के साथ उस सभा स्थल पर गई थी। उसने वहां हेलीकॉप्टर देखी। तभी से शिवांगी के मन में पायलट बनने का सपना मन में आया ।

इतना आसान नहीं था पायलट बनने का सफर।

शिवांगी के लिए पायलट बनना इतना आसान नहीं था। शिवांगी ने
मणिपाल इंस्टिट्यूट से एमटेक की पढ़ाई करते हुए उन्होंने एसएसबी की परीक्षा दी लेकिन वो उसमें असफल रहीं। फिर मालवीय नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से एमटेक के कोर्स में दाखिला लिया और 2018 में एक बार फिर उन्होंने एसएसबी का एग्जाम दिया और वो सफल रहीं।

नौसेना में डोर्नियर 228 उड़ा रही है शिवांगी।

शिवांगी लगभग 6 महीने कोच्चि में इंडियन नेवल एयर स्क्वॉड्रन 550 के साथ डोर्नियर 228 एयरक्राफ्ट को उड़ाना सीखा। फ़िलहाल वो नौसेना में डोर्नियर 228 उड़ा रही है जो की एयरक्राफ्ट नौसेना में पेट्रोलिंग के काम आता है।

इस तरह बिहार की लड़कियां हर क्षेत्र में अपना योगदान दे रही है। शिवांगी पे बिहार के लोगों को गर्व है।

Medha Pragati
Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -