13.1 C
New Delhi
Monday, January 30, 2023

एक ही थाने में बेटी है DSP और पिता हैं ASI, पिता का सर गर्व से ऊंचा किया

परी सरीखी होती हैं बेटियां, जिनका जादुई स्पर्श मन की सारी मुरादें पूरी कर देता है। इनके बगैर जिंदगी अधूरी सी होती है। घर को संवारती हैं तो देश का नाम भी रौशन करती हैं। ये हैं, तभी तो दुनिया इतनी हसीन है। एक पिता के लिए उसकी बेटी भाग्य होती है। बेटी जब सफल हो जाए तो एक पिता की खुशी का ठिकाना नही रहता। हर एक पिता चाहता है कि उसकी बेटी उससे भी ज्यादा सफल हो, अच्छे से अच्छे ओहदे पर हो।आज हम आपको ऐसी ही एक बेटी कहानी बताएंगे जिसके पिता जिस थाने में ASI हैं, वहीं बेटी DSP के पद पर है।

कौन है डीएसपी शाबेरा अंसारी।

शाबेरा अंसारी उत्तर प्रदेश के बलिया की रहने वाली हैं। इनके पिता का नाम अशरफ अली है। उप पुलिस अधीक्षक (डीएसपी) शाबेरा अंसारी और उनके पिता सब इंस्पेक्टर अशरफ अली, पिता और बेटी दोनों एक ही पुलिस थाने में तैनात है। पद के लिहाज से पिता पुलिस थाने में बेटी को सैल्यूट मारते हैं।

के’रोना काल में एक ही जगह काम करना पड़ा।

इसे मात्र एक संयोग कहें या फिर किस्मत, क्योंकि पिता और बेटी कभी नहीं सोचे थे कि वो एक साथ काम करेंगे। दोनों क्षेत्र में विवादों को निपटाने के साथ ही क’रोना वा’यर’स संक्र’मण से जंग लड़ने के लिए लोगों को जागरूक भी कर रहे हैं। दरअसल शाबेरा अंसारी के पिता अशरफ अंसारी जनता कर्फ्यू के दौरान आए हुए थे और अपनी बेटी के यहां रुके हुए थे। तभी पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया गया। जिसके बाद पीएचक्यू के आदेश पर अशरफ अली अंसारी को मझौली थाने में ही ड्यूटी देनी पड़ी।

2018 में शाबेरा का डीएसपी पद पर हुआ था चयन।

शाबेरा अंसारी 2013 में सब-इंस्पेक्टर पद पर चयनित हो गई और वर्ष 2016 में ज्वाइन भी कर लिया। लेकिन नौकरी के दौरान भी वो मध्यप्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन यानी की एमपीपीएससी की तैयारी करती रहीं। उनका चयन पीएससी में हो गया है। 9 दिसंबर 2019 को उनकी तैनाती सीधी में प्रशिक्षु डीएसपी पद हुई।

Medha Pragati
Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -