13.1 C
New Delhi
Monday, January 30, 2023

माँ ने खुशी से सजाई बच्चे की टिफ़िन-बॉक्स, तस्वीर देखकर लोग भड़क गए, क्या आपको नज़र आई गलती

एक माँ अपने बच्चों का पूरा ध्यान रखती हैं। उसे दुनिया के छल कपट, भेदभाव, ऊंच-नीच, दुख सुख, सब से परिचित करवाती हैं। जब तक बच्चा अच्छी तरह से अपने आसपास के वातावरण से परिचित नहीं हो जाता मां उसे अकेला बाहर नहीं भेजती। मां अपने बच्चे को मानसिक व शारीरिक स्तर पर मजबूत बनाती है जिससे वह अपने जीवन में आने वाली सभी मुसीबतों का डटकर मुकाबला कर सके। आज हम एक ऐसी ही माँ के बारे में आपको बताएंगे जिन्होंने अपने बच्चे के लिए बनाई गई टिफिन बॉक्स की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर किया। पर यह तस्वीर लोगों को रास नही आई।लोग माँ पर भड़क गए और अपनी प्रतिक्रिया देने लगे। आइये जानते है क्या थी घटना।

तस्वीर शेयर करना पड़ा महंगा

आज सोशल मीडिया एक ऐसा माध्यम बन चुका है जहाँ हम अपनी खुशी को जाहिर करते है। यह एक ऐसा मंच है जो लोगों की बातों को दूसरों तक पहुँचाता है। इसी सोशल मीडिया के माध्यम से एक माँ ने अपने बेटे के लिए बनाए गए टिफिन बॉक्स की फ़ोटो शेयर की थी। पर लोगों को यह तस्वीर बिल्कुल पसंद नही आई।

यह भी पढ़ें: एक ही शख्स को हुआ दो लड़कियों से प्यार, 4 साल किया डेट, तीनों ने कर ली धूमधाम से शादी

बहुत खूबसूरती से सजाया गया था

उस माँ द्वारा टिफिन बॉक्स को बहुत अच्छे से सजाया गया था। महिला ने उस बॉक्स में 2 ब्रेड, कटे फल, सब्जियां,और उबले अंडे पैक किए थे। जब लोगों की नजर उबले अंडे पर पड़ी तो लोग भड़क गए और उस माँ को तरह-तरह की प्रतिक्रिया देने लगे।

उबले अंडे के कारण लोगों का गुस्सा

दरअसल उबले अंडे को टिफिन बॉक्स में पैक करना महंगा पड़ा। उबले अंडे को अगर उबाल कर जल्द ही नही खाया जाए तो इसमें हार्मफुल बैक्टीरिया बनने लगते हैं। उस उबले अंडे को ज्यादा देर के बाद खाने से बच्चे की तबियत खराब हो सकती है। बच्चे को एलर्जी का भी सामना करना पड़ सकता है। लोगों को माँ की यह लापरवाही रास नही आई और उन्होंने उस महिला को निशाने पर ले लिया ।

यह भी पढ़ें: ‘लौंडा नाच’ से देश का मान बढाने वाले रामचंद्र मांझी को पद्मश्री, क्या आप जानते हैं इस लुप्त होती कला को?

जानकारी के अभाव में गलती

कभी-कभी जानकारी के आभाव में भी गलतियां हो जाती है। इसलिए हमें सही जानकारी रखनी चाहिए। उस माँ ने भी ऐसा जानकारी कम होने के कारण ही किया। नहीं तो भला कौन सी माँ अपने बच्चे को नुकसान पहुँचाना चाहेगी?

Medha Pragati
Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -