13.1 C
New Delhi
Monday, January 30, 2023

गरीब की बेटी ने बढ़ाया पिता का मान, बनी सबसे कम उम्र की कॉमर्शियल पायलट: मैत्री पटेल

अगर कुछ करने का हौसला हो तो उम्र बीच में नही आती। बस कुछ करने का हौसला होना चाहिए।

आज हम आपको एक ऐसी लड़की के बारे में बताएंगे जिन्होंने मात्र 19 वर्ष की उम्र में कमर्शियल पायलट बन कर पूरे देश के सामने एक नई मिसाल पेश की है। आइए जानते हैं उनके बारे में।

पायलट बनने का था सपना

गुजरात के सूरत के शेरडी गांव के एक किसान परिवार में जन्मी मैत्री पटेल बचपन से ही आसमान की ऊंचाईयों को छूना चाहती थी। मैत्री पटेल के पिता किसान हैं और सूरत म्युनिसिपल कॉरपोरेशन में भी काम करते हैं। मैत्री बचपन से ही पायलट बनना चाहती थी। लेकिन उनके घर की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी कि वो पायलट की ट्रेनिंग ले सकें।

पिता ने दिया साथ

मैत्री पटेल के पिता कांतिलाल पटेल, लोगों को सूरत से मुंबई हवाई अड्डे तक ले जाते थे। उन्होंने कई हवाई जहाज़ों को लैंड और टेक ऑफ़ करते देखा और ये निश्चित कर लिया कि उनकी बेटी भी हवाई जहाज़ उड़ाएगी और दुनिया घूमेंगी। कांतिलाल ने अपनी बेटी को अंग्रेज़ी मीडियम से पढ़ाया। मैत्री ने सूरत के एक निजी स्कूल में 12वीं तक की पढ़ाई की। इसके साथ ही मुंबई की एक एविऐशन कंपनी में पायलट की ट्रेनिंग ली। इसके बाद आगे के कोर्स के लिए वह अमेरिका जाना चाहती थी।

बैंक से लोन लिया मैत्री ने

मैत्री के पिता अपनी बेटी को अच्छी शिक्षा दिलाना चाहते थे ताकि वो पायलट बन कर अपने सपनों को पूरा करें। इससे पहले मैत्री पटेल के पिता ने कई बैंकों में लोन के लिए आवेदन किया था। लेकिन बैंक ने लोन देने से मना कर दिया था, तब उन्होंने पैसों का इंतजाम करने के लिए अपनी पुश्तैनी जमीन बेचने का फैसला किया था।

कम समय में ट्रेनिंग पूरा किया

मैत्री पटेल ने अपनी 18 महीनों की ट्रेनिंग को महज 11 महीनों में ही पूरा कर लिया था। उनकी यह ट्रेनिंग अमेरिका में पूरी हुई है और उन्हें वहीं से लाइसेंस भी जारी किया गया है। मैत्री बचपन से ही पायलट बनने का सपना लेकर आगे बढ़ रही थीं और उनके इस सपने को उनके परिवार का भी पूरा समर्थन हासिल था। मैत्री ने 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद ही अपनी पायलट लाइसेंस ट्रेनिंग शुरू कर दी थी।

यह भी पढ़ें: 12वीं में हुए फेल, भिखारियों संग सोये, ऑटो चलाये, लेकिन GF के साथ के कारण बन गए IPS

मैत्री ने रचा इतिहास

19 वर्षीय मैत्री पटेल ने अमेरिका से पायलट की ट्रेनिंग हासिल कर इतिहास रच दिया है। मैत्री ने 11 महीने की ट्रेनिंग के बाद कमर्शियल पायलट बनने का लाइसेंस हासिल कर लिया है। अमूमन ये ट्रेनिंग 18 महीने में पूरी की जाती है लेकिन मैत्री ने इस ट्रेनिंग को 11 महीने में ही पूरा कर लिया। मैत्री पटेल ने महज 19 साल की उम्र में कमर्शियल पायलट लाइसेंस हासिल कर पूरे देश को गौरवान्वित करने का काम किया है।

पिता के साथ भी भरी उड़ान

ट्रेनिंग कोर्स के समापन के साथ ही मैत्री ने अपने पिता को भी अमेरिका बुलाया और फिर दोनों ने 35 सौ फुट की ऊंचाई पर एक उड़ान भी भरी। मैत्री के लिए यह पल किसी सपने के सच होने से कम नहीं था। मैत्री आगे चलकर बतौर कैप्टन बोइंग जहाज उड़ाना चाहती हैं और वे जल्द ही इसके लिए भी अपनी ट्रेनिंग शुरू कर देंगी। मैत्री की इस कामयाबी के बाद अब उनका पूरा परिवार बहुत खुश है।

Medha Pragati
Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -