17.1 C
New Delhi
Monday, January 30, 2023

बिहार की 10 वर्षीय बेटी का चयन डांस का तड़का सीजन-2 में हुआ, YouTube और TV देखकर सीखा डांस

बहुत से लोगो को डांस (Dance) एवं गाने (song) में रूची होती है और वह इसी क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहते है। लोग अपनी हुनर को और बेहतर बनाने के लिए कोचिंग संस्थान में भी सीखने जाते है एवं बेहतर को और बेहतर बनाने के लिए लाखों रुपए खर्च कर देते है। आज हम आपको बिहार (Bihar) की एक नन्ही बच्ची राशि सिंह (Rashi Singh) के बारे में बताएंगे, राशि टीवी एवं मोबाइल के माध्यम से ही डांस सिख कर डांस रियलिटी शो (Dance Reality Show) के ऑडिशन में सिलेक्ट (Select) हुई है। आईए जाने राशि सिंह के बारे में।

राशि सिंह का परिचय

राशि सिंह बिहार के खगड़िया (khagdiya) के परबत्ता प्रखंड के महाद्दीपुर (Mahaddinpur) की रहने वाली है। 10 वर्ष की राशि अपने पिताजी रणधीर कुमार सिंह (Randhir Kumar Singh) एवं माता सोनाली आनंद (Sonali Anand) के साथ रहती है। राशि के पिताजी एक दवा (Medicine) व्यवसायी एवं माँ म्यूजिक (Music Teacher) की शिक्षिका है। राशि सिंह का चयन भोजपुरी (Bhojpuri) चैनल ढीसुम (Dhisum) के डांस रियलिटी शो के लिए डायरेक्ट मेगा ऑडिशन (Audition) के जरिए हुआ है। राशि जल्द ही भोजपुरी सिनेमा चैनल ढीसूम के डांस प्रोग्राम “डांस का तड़का सीजन 2” में नजर आएगी।

टीवी एवं यूट्यूब के माध्यम से सीखा डांस

डांस शो में राशि के चयन होने से राशि के माता-पिता के साथ-साथ पूरे गांव में उत्सव का माहौल है। राशि अपनी दो बहनों में सबसे बड़ी है। उनसे छोटी उनकी बहन सौम्य सिंह (Saumya Singh) अभी 5 वर्ष की है। राशि को डांस करने का बहुत शौक है। उन्होंने किसी भी कोचिंग संस्थान या कहीं से डांस नहीं सीखा है। अपने घर में ही टीवी (TV) और यूट्यूब (YouTube) के जरिए डांस सीखा है।

यह भी पढ़ें: Tarak Mehta की सोनू ने शेयर किया वीडियो, इंटरनेट पर जमकर हो रहा वायरल, लोग बोले-

5 वर्ष के उम्र में ही जिला टॉपर बनी थी राशि

राशि सिंह जब 5 वर्ष की थी तभी से डांस सीख रही है एवं 5 वर्ष के उम्र में ही एक डांस प्रोग्राम में जिला टॉपर भी बनी थी। राशि ने बहुत कम उम्र में ही यह मुकाम हासिल किया है।

हरियाणा में होगी शूटिंग

राशि का चयन भोजपुरी सिनेमा चैनल ढीसुम पे आने वाला शो “डांस का तड़का सीजन 2” (Dance Ka Tarka Season 2) में हुआ है। इस शो की शूटिंग (Shoting) हरियाणा (Haryana) के अंबाला (Ambala) कैंट स्थित महर्षि मार्कण्डेश्वर यूनिवर्सिटी मुल्लाना (Maharshi Markandeshwar University Mullana) में होगा।

बेटा न होनी की कमी माँ को कभी नहीं खली

राशि के पिताजी का कहना है कि राशि ने अपने दम पर यह मुकाम हासिल किया है और वह इस क्षेत्र में आगे बढ़ेगी और सफलता भी पाएगी। उनकी मां सोनाली आनंद का कहना है कि बेटी ने कभी बेटा न होने की कमी महसूस नहीं होने दिया।

Medha Pragati
Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -