17.1 C
New Delhi
Wednesday, February 8, 2023

कभी खाने को नहीं था पैसे, आज PayTM की शुरुआत कर बन चुके हैं करोड़पति: Vijay shekhar sharma

जब सोने को तपाया जाता है तो उसमें से सारी अशुद्धियां समाप्त हो जाती है और वह निखर कर कुंदन बन जाता है।

ठीक उसी तरह जैसे-जैसे हम जीवन की आग में तपते जाते हैं हमारा व्यक्तित्व निखरने लगता है। आज हम आपको पेटीएम के संस्थापक श्री विजय शेखर शर्मा के बारे में बताएंगे जो अपने मेहनत के बदौलत कामयाबी के शिखर पर पहुँचे हैं। आइये जानते हैं उनके बारे में।

बचपन से पढ़ाई में तेज

विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) का जन्म उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अलीगढ़ (Aligarh) के एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था। वह बचपन से ही पढ़ाई में तेज़ थे। विजय की शुरूआती पढ़ाई घर पर ही हुई थी। अपनी काबिलियत के दम पर 14 वर्ष की उम्र में ही उन्होंने 12वीं क्लास पास कर ली थी। कॉलेज की पढ़ाई के लिए विजय ने दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में एडमिशन ले लिया।

अंग्रेजी में थे कमजोर

विजय (Vijay) की अंग्रेजी काफी कमजोर थी, जिसकी वजह से कॉलेज के दिनों में इन्हें बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ा। हिंदी मीडियम में बचपन से होशियार विजय को कॉलेज की पढ़ाई में कई परेशानियां आने लगी, जिसकी वजह से विजय कॉलेज में अनुपस्थित रहने लगे।

विजय ने अंग्रेजी सीखी

Yahoo की वेबसाइट स्टैनफोर्ड कॉलेज में बनी थी, इसीलिए विजय वहां जाकर पढ़ना चाहते थे। लेकिन अपनी आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण उनका सपना अधूरा रह गया। अंग्रेजी ना आने के कारण श्री विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) जी के मन में कई बार पढ़ाई छोड़ने का विचार भी आया। लेकिन उन्होंने फिर ठान लिया कि वो अंग्रेजी सीख कर ही रहेंगे। विजय ने अपने दोस्तों की मदद से अंग्रेजी सीखने का एक अनोखा तरीका ढूंढा। अपनी इच्छाशक्ति के बल पर उन्होंने जल्द ही अंग्रेजी पर अपनी पकड़ बना ली।

पहली कंपनी की शुरुआत

उन्होंने अपने बचत के पैसों से अपने बिज़नेस की शुरूआत की। उन्होंने अपने दोस्तों के साथ मिलकर एक कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम indiasite.net बनाया जिसमे इन्वेस्टर्स ने पैसा लगाया था। दो साल बाद इसको बेचने से मिले 1 मिलियन डॉलर से विजय ने One97 Communications Ltd. नाम की मोबाइल वैल्यू एडेड सर्विस देने वाली कंपनी खोली। पर पहली कंपनी अमेरिका की 9/11 त्रासदी के असर के कारण डूब गई।

यह भी पढ़ें: वारदात: लूट गया दूल्हा, नाचते रह गए बाराती, पलक झपकते ही हो गया कांड

Paytm की शुरूआत

नौकरी करने के दौरान श्री विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) ने देखा कि आने वाले समय में स्मार्टफोन का चलन तेजी से बढ़ने वाला है। तो क्यों न इससे जुड़ा कुछ ऐसा किया जाये, जिससे लोगों की समस्याओं का निदान हो। अपनी इसी सोच के साथ उन्होंने One97 Communications Ltd के ही अंतर्गत Paytm.com नाम की वेबसाइट खोली और ऑनलाइन मोबाइल रिचार्ज सुविधा शुरू की। पेटीएम के सुविधाजनक होने के कारण यह जल्दी ही लोगों के बीच प्रसिद्ध होने लगा।

भारत में प्रसिद्ध हुआ Paytm

Paytm का बिज़नेस बढ़ा तो विजय ने Paytm.com में ऑनलाइन वॉलेट, मोबाइल रिचार्ज, बिल पेमेंट, मनी ट्रान्सफर और शॉपिंग फीचर भी जोड़ दिए। देखते ही देखते Paytm भारत का सबसे बड़ा मोबाइल पेमेंट और ई-कॉमर्स प्लेटफार्म बन गया। वर्तमान समय में Paytm भारत की सभी जगह अपनी सेवा प्रदान कर रहा है।

श्री विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) जी की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है। उन्होंने अपने मेहनत के दम पर प्रसिद्धि पाई है।

Medha Pragati
Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -