19.1 C
New Delhi
Thursday, February 2, 2023

आखिर हाथ में कलावा क्यों बांधा जाता है, जानें इसके पीछे का पौराणिक और वैज्ञानिक कारण

पूजा पाठ के दौरान श्रद्धालु अपने हाथ पर एक रंगीन सूत्र बांधते है, इस रंगीन सूत्र को कलावा (Kalava) कहा जाता है। क्या आप जानते है कि कलावा बांधने के पीछे क्या कारण है?लोग कलावा क्यों बांधते है? आईए जाने कलावा बांधने का कारण।

नकारात्मक शक्तियों को दूर रखता है कलावा

किसी भी धार्मिक स्थल पर जाने पर या किसी पूजा, कथा या शुभ धार्मिक कार्य के बाद हाथों में कलावा बांधने की परंपरा बेहद पुरानी है। मान्यताओं के अनुसार कलावे बांधने से यह सकारात्मक उर्जा फैलाती है एवं नकारात्मक शक्ति को दूर करती है। यह बुरी नजरों से हमें बचाता है इसीलिए इसे रक्षा सूत्र भी कहा जाता है।

कलावा का संबंध ग्रहों से भी है

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार अलग-अलग रंग के कलावा बांधने का संबंध अलग-अलग ग्रहों से होता है, जैसे लाल रंग के कलावा से मंगल, पीले रंग के कलावा से वृहस्पति और काले रंग के कलावा से सनी मजबूत होता है। कलावा बांधने के कई अलग-अलग कारण है। वैज्ञानिकों के मुताबिक भी कलावा बांधने का एक बहुत बड़ी मान्यता है।

पौराणिक कथाओं के अनुसार कलावा बांधने का कारण

कलावे बांधने के दो कारण होते हैं जिसमें एक है वैज्ञानिक और दूसरा पौराणिक कथाओं के अनुसार, पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान विष्णु के वामन अवतार के सामने आने पर राजा बलि ने भगवान विष्णु को अपने साथ पाताल लोक में रहने का अनुरोध किया था। और विष्णु जी पाताल लोक में रहने लगे थे जिसके बाद माता लक्ष्मी ने राजा बलि के हाथ में कलावा बांधा और भाई बना लिया और भगवान विष्णु को राजा बलि से वापस मांग ली।

यह भी पढ़ें: जन्म से ही हाथ नहीं है और सुनने में भी है दिक्कत, पैर से ही बनाते हैं सुन्दर पेंटिंग्स, लाखों लोगों के लिए बन…

कलावा बांधने का वैज्ञानिक कारण

वैज्ञानिकों (Scientist) के अनुसार मनुष्य की कलाई में तरह-तरह की नसें होती हैं और जब कलाई में कलावा बांधा जाता है तब नसों पर नियंत्रण रहता है। इसके कारण कई प्रकार की बीमारियां जैसे ब्लड शुगर (Blood Sugar), हृदय गति (Heartbeat) एवं ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) भी सामान्य रहता है।

Medha Pragati
Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -