आखिरकार गैस या ऑक्सीजन के सिलेंडर का आकार क्यूं होता है बेलनाकार, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह?

आज के युग में तकरीबन सभी के घरों में गैस सिलेंडर है। आपने कभी सोचा है की यह सिलेंडर (cylinder) हमेशा बेलनाकार ही क्यों होता है? आज हम आपको सिलेंडर के बेलनाकार होने की वजह बताएंगे।

सिलेंडर के बेलनाकार होने की वजह

गैस (Gas) या द्रव (liquid) को स्टोर करने के लिए बेलनाकार सिलेंडर के अलावा चौकोट या किसी भी अन्य सेप में रखा जाए तो उसके कोनो पर अधिक प्रेशर पड़ता है, जिसके कारण सिलेंडर फटने के खतरा रहता है। सिलेंडर का आकार चौकोट होने से पूरा दबाव सिलेंडर के चारों कोनों पर जमा होने लगता है जिसके कारण सिलेंडर लीक होने या फटने की आशंका अधिक हो जाता है। इसी तरह के खतरों से बचाव के लिए गैस या अन्य किसी भी तरल पदार्थों को बेलनाकार सिलेंडर में ही रखा जाता है।

यह भी पढ़ें: ‘दिल्ली मेट्रो में फर्श पर न बैठें’, ऐसा अनाउंसमेंट तो आपने खूब सुना होगा, आज जानिए इसका कारण

दुर्घटना का खतरा कम रहता है

सिलेंडर और टैंकर का साइज बेलनाकार ही होता है क्योंकि बेलनाकार सेप होने के कारण गैस का दबाव चारों तरफ एक समान रहता है और लिक्विड को टैंकर या सिलेंडर की मदद से एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाया जाता है। जब टैंकर को दूसरी जगह ले जाने के लिए किसी गाड़ी पर लोड कर दिया जाता है तो सिलेंडर ऑफ ग्रेविटी कम होने के कारण गाड़ी स्थिर स्थिति में होता है जिससे दुर्घटना का खतरा कम रहता है। इसीलिए गैस या लिक्विड को स्टोर करने के लिए गोलाकार या बेलनाकार टैंक का ही उपयोग किया जाता है।

शेयर जरूर करें:-

By Shubham Jha

Shubham वर्तमान में पटना विश्वविद्यालय (Patna University) में स्नात्तकोत्तर के छात्र हैं। पढ़ाई के साथ-साथ शुभम अपनी लेखनी के माध्यम से दुनिया में बदलाव लाने की ख्वाहिश रखते हैं। इसके अलावे शुभम कॉलेज के गैर-शैक्षणिक क्रियाकलापों में भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं।