17.1 C
New Delhi
Wednesday, February 8, 2023

अफवाह या साजिश: जानिए Parle G वाले अफवाह से Parle कंपनी को कितना मुनाफा हुआ?

Parle G rumour in Bihar – अभी हाल ही में आपने बिहार के सीतामढ़ी जिले में Parle G बिस्किट से जुड़ा एक अफवाह सुना होगा। दरअसल इस अफवाह से Parle कंपनी को खूब फायदा हुआ। दुकानों से Parle G बिस्किट के स्टॉक खत्म हो गए।

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सिर्फ 2 दिन में Parle G के सेल में 1000% तक वृद्धि दर्ज की गई। पिछले कई सालों से आपने गौर किया होगा कि नए नए ब्रांड के आने से Parle G की बिक्री में धीरे- धीरे कमी आई है। ऐसे में इस अफवाह के फैलते ही Parle G के सारे स्टॉक्स खत्म हो गए। जिस डिस्ट्रीब्यूटर या होलसेलर के पास पुराना से पुराना माल भी बचा था, सब बिक गया। कुछ दुकानदारों ने तो निकटवर्ती जिलों से भी स्टॉक मंगाया।

Source: Internet

प्रथम दृष्टया तो यह अफवाह एक साजिश लगती है। ऐसा हो सकता है कि Parle कंपनी के किसी कर्मचारी ने ही ऐसी अफवाह फैलाई हो। या फिर हो सकता है कि यह अफवाह किसी की खुराफात हो। वजह चाहे जो भी रही हो परंतु Parle कंपनी की तो निकल पड़ी। एक अनुमान के मुताबिक सामान्य दिनों से उन्हें 1000% अधिक मुनाफा हुआ। वैसे कंपनी के आधिकारिक आंकड़े का अभी भी इंतज़ार है।

ऐसे अफवाहों की बात करें तो बिहार अफवाहों का राज्य बन चुका है। यहां हमेशा कोई न कोई अफ़वाह सुनने को मिलते रहता है। ऐसा ही Parle G बिस्किट और जितिया पर्व से जुड़ा यह अफवाह का मामला था। आपको बता दें कि बिहार की महिलाएं अपने बेटे की लंबी आयु और सुखमय जीवन की कामना के लिए जितिया व्रत का उपवास रखती है। यह व्रत चल ही रहा था कि किसी ने अफवाह फैला दी कि जो महिलाएं जितिया व्रत रखती है अगर वह या उनका बेटा Parle G बिस्कुट नहीं खाएगा तो उसके परिवार में अनहोनी घटना घट जाएगी।

यह अफवाह आग की तरह फैल गई। और दुकानों पर Parle G की खरीदरों की भीड़ लग गई है। इतना ही नहीं इस अफवाह ने आसपास के बहुत से इलाकों में भी अपने पैर फैला लिए। बहुत से लोग मोबाइल के माध्यम से दूसरे शहरों में रहने वाले अपने जान-पहचान और रिश्तेदारों को भी इस अफवाह के बारे में बता रहे थे।

इस अफवाह के बीच बेईमान दुकानदारों ने भी खूब कमाया। 5 रुपये वाला बिस्किट 50-50 रुपये में बेचा गया। कई जगह दुकानदार और ग्राहक के बीच लड़ाई की खबरें भी आई।

यह भी पढ़ें: बिहार में फिर से रहस्यमयी बुखार ने दी दस्तक, हज़ारों बच्चें भर्ती, नीतीश सरकार ने कसी कमर

ऐसी अफवाहें कोई नई बात नहीं है। आपको याद ही होगा जब कुछ महीने पहले महिलाओं के बाल काटने के संबंध में अफवाह उड़ी थी। इस पोस्ट के माध्यम से वैदिक ज्ञान अपने पाठकों से अपील करता है कि ऐसी किसी अफवाह पर कभी ध्यान न दें। अफवाहों को फैलने से रोकें।

Medha Pragati
Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -