17.1 C
New Delhi
Wednesday, February 8, 2023

वैज्ञानिकों ने खोजा एक नया पदार्थ, इससे बनी स्क्रीन टूटने पर खुद ही ठीक हो जाएगी

मोबाइल फोन हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन गया है। हमारे दिन की शुरुआत भी मोबाइल फोन से होती है और अंत भी। बड़े तो बड़े, बच्चों को भी अब इसकी जरूरत पड़ती है।

इस क’रोना काल में ऑनलाइन पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है। तब से मोबाइल फ़ोन के बिक्री में और तेजी आ गई है। अब हमारे जीवन में मोबाइल इतना उपयोगी हो गया है कि ज्यादातर काम हम अपने मोबाइल फ़ोन के द्वारा ही कर लेते है। पर इस मोबाइल के इस्तेमाल में अक्सर लोगों को एक सामान्य दिक्कत का सामना करना पड़ता है, वह है स्क्रीन का क्रैक होना। पर अब वैज्ञानिकों के द्वारा इसके निदान के लिए रास्ता निकाल लिया गया है। आइये जानते हैं इसके बारे में।

क्रैक स्क्रीन अब होगी ठीक

हमारे दैनिक जीवन के उपयोग में मोबाइल बहुत जरूरत की चीज हो गयी है। पर इसके उपयोग में एक समस्या हमेशा से हमलोगों के साथ बनी रहती है जो है इसके स्क्रीन का टूटना। अब वैज्ञानिकों ने इसके लिए एक हार्डवेयर फीचर अपडेट किया है। यानी अब मोबाइल फोन की स्क्रीन क्रैक होते ही कुछ ही सेकेंड में अपने आप ठीक हो जाएगी। समय-समय पर मोबाइल की कंपनी सॉफ्टवेयर पहले से अपडेट करती आई है। अब यह अलग किस्म का हार्डवेयर फीचर लाया गया है।

यह भी पढ़ें: इन ट्रिक्स और टिप्स की मदद से आप स्मार्टफोन से DSLR जैसी क्लियर फोटो खींच पाएंगे।

एक विशेष प्रकार का पदार्थ निर्माण किया

मोबाइल फोन के टूटे हुए स्क्रीन से निजात पाने के लिए कंपनी ने एक विशेष प्रकार का पदार्थ निर्माण किया है। कोलकाता के भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान के शोधकर्ताओं द्वारा यह पदार्थ विकशित किया गया है। उन्होंने एक ऐसा पदार्थ तैयार किया है जो पारदर्शी होने के साथ-साथ काफी मजबूत है। इतना ही नहीं क्रैक होने की स्थिति में वह खुद ब खुद ठीक भी हो जाता है। इस पदार्थ के निर्माण से आमलोगों की परेशानी अब दूर होगी। उन्हें बार-बार दुकान का चक्कर नही लगाना पड़ेगा।

इस प्रक्रिया के द्वारा काम करता है यह पदार्थ

शोधकर्ताओं ने इसे बनाने के लिए पाइजोइलेक्ट्रिक जैविक पदार्थ का उपयोग किया है। जो यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में और विद्युत ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में बदल देता है। इसमें सुई के आकार के क्रिस्टल होते हैं। जो 2 मिलीमीटर लंबाई और 0.2 मिलीमीटर चौड़ाई से बड़े नहीं होते हैं। विशेष रूप से डिजाइन किए क्रिस्टल में परमाणुओं के क्रम के कारण दो सतहों के बीच एक तीव्र आकर्षण बल लगता है। ऐसे में जब भी सतह पर कोई टूटन, जैसे की स्क्रीन में क्रैक होना होती है। आकर्षण बल के कारण टुकडे वापस पुरानी स्थिति में आ जाते हैं। वैज्ञानिक काफी दिनों से इसे विकशित करने में लगे हुए थे।

आमलोगों के उपयोग में जल्द ही आएगा

इस शोध को अब आमलोग जल्द ही अपने दैनिक जीवन में मोबाइल के उपयोग में लाएंगे। इस पदार्थ के आने से उन्हें स्क्रीन टूटने के डर से भी निजात मिलेगी और पैसों की भी बचत हो सकेगी। यह भी देखने वाली बात होगी कि यह शोध आने वाले दिनों में कितना सफल हो पाता है।

Sunidhi Kashyap
Sunidhi Kashyap
सुनिधि वर्तमान में St Xavier's College से बीसीए कर रहीं हैं। पढ़ाई के साथ-साथ सुनिधि अपने खूबसूरत कलम से दुनिया में बदलाव लाने की हसरत भी रखती हैं।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -