17.1 C
New Delhi
Wednesday, February 8, 2023

दिव्यांग सिंहराज की पत्नी ने पति की ट्रेनिंग के लिए बेच दिए थे अपने गहने, पति ने भी मैडल लाकर रखी लाज

“जो बुरे वक्त को बदलने की ख्वाहिश दिल में पाल लेते हैं। अपनी मेहनत से वो अपनी किस्मत की लकीरें बदल देते हैं”

यह पंक्ति टोक्यो पैरालंपिक की निशानेबाजी प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीतने वाले श्री सिंहराज अडाना पर सही बैठती है। पोलियोग्रस्त होने के कारण सिंहराज अडाना जी शारीरिक रूप से अक्षम हैं। लेकिन इसके बाद भी उन्होंने अपनी कमजोरियों को कभी खुद पर हावी नहीं होने दिया। आइये जानते है उनके बारे में।

शारीरिक रूप से अक्षम सिंहराज

हरियाणा के बहादुरगढ़ के रहने वाले सिंहराज अडाना पोलियोग्रस्त हैं। जिसके कारण वह शारीरिक रूप से अक्षम हो गए। उनके दोनों पांवों में पोलियो है और वह बैसाखी के सहारे चलते थे। उनकी माँ और परिवार के अन्य सदस्यों ने उन्हें बिना सहारे के पांवों पर खड़ा होने के लिये प्रेरित किया। जिसके बाद उन्होंने अपनी इस कमजोरी को कभी खुद पर हावी होने नहीं दिया।

यह भी पढ़ें: कभी दाढ़ी-मूंछ के कारण बनता था मज़ाक, अपनी इस कमज़ोरी को ताकत बनाकर बनीं सफल मॉडल

सिंहराज को भतीजे ने दी प्रेरणा

सिंहराज के भतीजे निशानेबाज हैं। जब वह अभ्यास करते थे तो उनके भतीजे के कोच ने सिंहराज से भी निशानेबाजी में हाथ आजमाने को कहा। उन्होंने पहली बार में ही पांच में से चार निशाने सही लगाये। इनमें परफेक्ट 10 भी शामिल था। जिसके बाद कोच ने निशानेबाजी के खेल में श्री सिंहराज को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया।

पत्नी ने बेच दिए गहने

सिंहराज अडाना के निशानेबाज बनने और उसकी तैयारी कराने के लिए उनकी पत्नी ने अपने गहने तक बेच दिए थे। सिंहराज अडाना की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी कि वह तैयारी का पूरा खर्च उठा सके। इसे देखते हुए उनकी माँ ने उन्हें कोई सामान्य नौकरी करने की भी सलाह दी ताकि घर का खर्च चल सके। लेकिन सिंहराज अडाना ने निशानेबाज बनने का फैसला कर लिया था।

यह भी पढ़ें: 8 वर्ष की उम्र में हो गई थी शादी, पति ने मेहनत कर पढ़ाया, MBBS करके बनी डॉक्टर: Dr. Rupa

पदक जीतकर रच दिया इतिहास

श्री सिंहराज अडाना ने अपनी मेहनत के बदौलत टोक्यो पैरालंपिक में भाग लिया। उन्होंने टोक्यो पैरालंपिक की निशानेबाजी प्रतियोगिता में भारत के लिए कांस्य पदक जीतकर नया इतिहास रच दिया। सिंहराज अडाना की मेहनत और उनके प्रदर्शन की आज हर कोई सराहना कर रहा है।

Shubham Jha
Shubham Jha
शुभम झा (Shubham Jha)एक पत्रकार (Journalist) हैं। भारत में पत्रकारिता के क्षेत्र में बदलाव लाने की ख्वाहिश रखते हैं। वह चाहते हैं कि पत्रकारिता स्वच्छ और निष्पक्ष रूप से किया जाए। शुभम ने पटना विश्वविद्यालय (Patna University) से पढ़ाई की है। वह अपने लेखनी के माध्यम से भी लोगों को जागरूक करते हैं।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -