19.1 C
New Delhi
Thursday, February 2, 2023

कई नौकरी छोड़कर IPS बनने के अपने सपने पर टिकी रही, आखिरकार आज IPS बनकर कर रही हैं देश सेवा: IPS Tripti Bhatt

इच्छा शक्ति और दृढ़ निश्चय जीवन के दो सबसे महत्वपूर्ण गुण है। यही दोनों गुण जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए आवश्यक शर्तें और गेम चेंजर साबित होते है।

आज हम आपको एक ऐसे आईपीएस अफसर तृप्ति भट्ट (Tripti Bhatt) के बारे में बताएंगे जिन्होंने अपने दृढ़ इच्छा शक्ति से अपने सपने को पूरा किया और आज वह पुलिस विभाग की कप्तान हैं। उन्होंने अपने सपने को पूरा करने के लिए खूब मेहनत की। आइये जानते है उनके बारे में।

तृप्ति भट्ट (Tripti Bhatt) का परिचय।

तृप्ति भट्ट (Tripti Bhatt) मूल रूप से उत्तराखंड के अल्मोड़ा जनपद की हैं और वर्तमान में चमोली जनपद में पुलिस महकमे की मुखिया हैं। शिक्षक परिवार की बेटी से लेकर आईपीएस (IPS) बनने तक का सफ़र तृप्ति भट्ट (Tripti Bhatt)के बुलंद होंसलों की कहानी खुद बयां करती है। उन्होंने कड़ी मेहनत और लगन से ये मुकाम पाया है और आज वे हजारों बेटियों के लिए एक मिसाल और रोल माॅडल भी हैं। (Inspirational story of IPS Tripti Bhatt)

Photo source: Instagram/tripoftrip

बचपन से पढ़ाई में अव्वल

तृप्ति (Tripti) ने बचपन से ही खेलकूद से लेकर पढ़ाई में अपना परचम लहराया और अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। तृप्ति भट्ट (Tripti Bhatt) ने पंतनगर विश्वविद्यालय से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की। बी.टेक पूरा करने के बाद, उन्हें सरकारी और गैर-सरकारी संस्थानों से नौकरी के कई प्रस्ताव मिलने लगे। पर उनका एक ही लक्ष्य था आईपीएस (IPS) बनना। (Inspirational story of IPS Tripti Bhatt)

Photo source: Instagram/tripoftrip

कई नौकरियों को ठुकराया

तृप्ति (Tripti) को इसरो की ओर से ऑफर भी मिला था पर उन्होंने नौकरी के सभी प्रस्तावों को अस्वीकार कर दिया। नौकरी के सभी प्रस्तावों को ठुकराने के बाद, तृप्ति (Tripti) ने अपना सारा ध्यान सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी पर केंद्रित कर दिया। उन्होंने सिविल सर्विस की तैयारी जारी रखी। वर्षों की कड़ी मेहनत के बाद, उन्होंने आखिरकार 2013 में सिविल सेवा परीक्षा को पास करके अपने सपने को पूरा किया और आईपीएस (IPS) अधिकारी बन गईं। (Inspirational story of IPS Tripti Bhatt)

Photo source: Instagram/tripoftrip

सम्मानित की गई तृप्ति (Tripti)

आईपीएस तृप्ति भट्ट (IPS Tripti Bhatt) लंबे समय से उत्तराखंड के चमोली जिले में एसएसपी (SSP) होने के साथ-साथ एसडीआरएफ (SDRF) की चीफ कमांडर के पद पर कार्यरत थीं। उन्हें उनके अच्छे कार्यों के लिए वर्ष 2020 के लिए स्कॉच अवार्ड (Skoch Award) से सम्मानित किया जा चुका है। उन्होंने क”रोना के दौरान जरूरतमंदों की मदद की थी साथ ही साथ उन्होंने अपने क्षेत्र में क”रोना से लड़ने के लिए एक बढ़िया योजना बनाकर वहां के लोगों को इस गंभीर बीमारी के लिए जागरूक भी किया था। (Inspirational story of IPS Tripti Bhatt)

आज तृप्ति भट्ट (Tripti Bhatt) की जितनी तारीफ की जाए कम है। उन्होंने यह साबित कर दिया है कि कड़ी मेहनत और दृढ़ इच्छा शक्ति से अपने सपने को पूरा किया जा सकता है।

Sunidhi Kashyap
Sunidhi Kashyap
सुनिधि वर्तमान में St Xavier's College से बीसीए कर रहीं हैं। पढ़ाई के साथ-साथ सुनिधि अपने खूबसूरत कलम से दुनिया में बदलाव लाने की हसरत भी रखती हैं।

Related Articles

Stay Connected

95,301FansLike
- Advertisement -